संन्यास के बाद क्या करना चाहती हैं मिताली राज? दिया जवाब

mitali raj

पूर्व भारतीय क्रिकेटर मिताली राज ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। 23 साल के करियर के बाद भी मिताली क्रिकेट से दूर नहीं जाना चाहती हैं। भविष्य के प्लान को लेकर बात करते हुए मिताली ने एडमिनिस्ट्रेशन से जुड़े काम करने की इच्छा जताई है। मिताली ने कहा, इससे उन्हें अपने अनुभवों को इस्तेमाल करने का मौका मिलेगा। बेलिंडा क्लार्क, क्लेयर कॉनर अपने देश में ऐसी भूमिकाओं में नजर आ चुकी हैं।

 

मिताली राज ने अपने 23 साल के इंटरनेशनल करियर में मिताली ने 12 महिला टेस्ट, 232 महिला वनडे और 89 महिला टी20I मैचों में भारत के लिए कप्तानी भी किया है . उन्होंने भारतीय माहीला क्रिकेट के तीनों ही फॉर्मेट में कुल 10, 868 रन बनाए, जिनमें 8 शतक शामिल हैं. मिताली ने वनडे क्रिकेट में 8 विकेट भी लिए है

 

सन्यास के बाद पाहली बार एक इंटरव्यू मे मिताली राज ने कहा कि जिस तरह से ऑस्ट्रेलिया की बेलिंडा क्लार्क ने अपने अनुभव का प्रयोग रीटायरमेंट के बाद ऑस्ट्रेलियाई महिला क्रिकेट के लिए कर रही है . ठीकउसी तरह से मैं भी अपने 23 वर्ष का अनुभव का बीसीसीआई के लिए कर सकती हूं. मिताली राज ने करीब 23 वर्ष तक भारतीय टीम के लिए कई इंटरनेशनल मैच मे खेला है. इसलिए मिताली राज का अनुभव बीसीसीआई के लिए एक अच्छा कदम साबित हो सकती है । इस प्रकार से मिताली राज अपने सन्यास के बाद लगातार सोशल मीडिया पर बीसीसीआई के साथ नए रोल को लेकर चर्चा में चल रही है.

 

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने अचानक से महिला इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा बोलकर सभी को चौंका दिया है जहां मिताली राज ने अपने टि्वटर हैंडल से अपने रिटायरमेंट का घोषणा करते हुए अपने 23 साल के सफर का अंत किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top