दो नाम लेते ही पत्रकार पर भड़के लोकेश राहुल, बोले इतनी मेरी औकात नहीं, की मई उनके आस- पास भी

लोकेश राहुल

जिम्बाब्वे के खिलाफ टीम इंडिया ने सीरीज के पहले मैच में 10 विकेट से जीत कर शानदार शुरुआत की है. टीम इंडिया की कप्तानी इस सीरीज में लोकेश राहुल कर रहे है. टॉस जीतकर उन्होंने इस मैच में पहले गेंदबाजी का फैसला लिया था, पहले गेंदबाजी टीम के लिए सही साबित हुआ. मैच ख़त्म होने के बाद केएल राहुल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी, लेकिन वहां वो एक सवाल पर पूरी तरह भड़क जाते है और सीनियर खिलाड़ियों से तुलना किए जाने पर बड़ा बयान दे दिया.

एमएस धोनी ने देश के लिए जो किया वो कोई नहीं कर सकता- लोकेश राहुल

कप्तानकेएल राहुल से जब यह सवाल पूछा गया था कि वह एमएस धोनी, विराट कोहली और रोहित शर्मा में से किसके नक्शे कदम पर चलना चाहेंगे. इस सवाल के पूछे जाने से बिल्कुल भी खुश नहीं दिखे और जवाब देते हुए कहा, ‘जो नाम आपने लिए, मैं इन लोगों के साथ अपनी तुलना भी नहीं कर सकता. एमएस धोनी ने देश के लिए जो किया है वह उनके आंकड़े बयां करते हैं. उसकी तुलना किसी से नहीं की जा सकती. मुझे नहीं लगता कि इनमें से कोई भी नाम लेना जायज है.’

शुभमन और धवन बीच रेकॉर्ड 192 रनों की साझेदारी हुई

जिम्बाब्वे के खिलाफ पहले मैच में टीम इंडिया ने गेंदबाजी का फैसला कर जिम्बाब्वे की टीम को 189 रनों पर ही समेट दिया । भारतीय गेंदबाजी की ओर से दीपक चाहर, प्रसिद्ध कृष्णा और अक्षर पटेल ने 3-3 विकेट हासिल किया । जवाब मे 190 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरे शिखर धवन और शुभमन गिल ने शानदार बल्लेबाजी की और टीम इंडिया को 10 विकेट से जीत दिलाई. शिखर धवन ने 113 गेंदों पर 81 रन की पारी खेली, वहीं शुभमन गिल ने 72 गेंदों पर 82 रन बनाए. इन दोनों बल्लेबाजों के बीच रेकॉर्ड 192 रनों की नाबाद साझेदारी देखने को मिली.

रुकने का नाम नहीं ले रहा पुजारा का बल्ला, एक बार फिर मचाया तबाही

भारतीय कप्तान केएल राहुल मैच जीतने के बाद कहा कि “मैं मैदान पर हूं और मैं ख़ुश हूं। हम बहुत क्रिकेट खेलते हैं, चोटें इसका हिस्सा बनने जा रही हैं। खेल से दूर रहना कठिन है। रिहैब और सब कुछ हर रोज उबाऊ हो जाता है हम फ़िजियो के साथ रहने के बजाय 365 दिन खेलना पसंद करेंगे। विकेट लेना महत्वपूर्ण है। पिच पर स्विंग और सीम मूवमेंट भी था। लेकिन यह देखकर अच्छा लगा कि गेंदबाज़ों ने गेंद को सही लाइन पर किया और अनुशासित रहे। हम में से कुछ के लिए, भारतीय ड्रेसिंग रूम में वापस आना बहुत अच्छा है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top