20 गेंद में 67 रन… ऐसा धाकड़ बल्‍लेबाज अब गाजियाबाद की सड़कों पर चला रहा ई-रिक्‍शा

RAJA BABU

भारतीय क्रिकेट का एक ऐसा ‘दिव्यांग खिलाड़ी’ एक समय मे जिसकी ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी देखकर सभी लोग हैरान रह जाते थे. अपने व्हीलचेयर पर बैठे-बैठे ही ये धुरंधर बल्लेबाज़ मैदान के चारो ओर चौके-छक्कों की बारिश कर देता था. आज दिव्‍यांग क्रिकेट सर्किट का यह बल्लेबाज़ आज ई-रिक्शा गाजियाबाद की सड़कों पर (e-rickshaw) चलाने को मजबूर है.पिछले दो साल से भी ज्‍यादा वक्‍त से 31 साल के क्रिकेटर राजा बाबू गाजियाबाद की सड़कों पर ई-रिक्‍शा चला रहे हैं।उनकी ताबड़तोड़ बैटिंग से प्रभावित होकर ये वही ई-रिक्‍शा है जो एक लोकल कारोबारी ने उन्हें गिफ्ट किया था।

रोज करीब 10 घंटे ई-रिक्‍शा चलाने को मजबूर क्रिकेट का यह खिलाड़ी

प्रेस से बातचीत के दौरान राजा बाबू ने आपबीती सुनाई । राजा बाबू ने इस मामले मे सबसे पहले बताया , ‘मैंने गाजियाबाद की सड़कों शुरुआती कुछ महीने आर्थिक तंगी से जूझने के कारण पर दूध बेचा। अभी मैं बहरामपुर और विजय नगर के बीच रोज करीब 10 घंटे ई-रिक्‍शा चलाने को मजबूर हूं ताकि सिर्फ 250-300 रुपये कमा सकूं। घर का खर्च नहीं चल पाता और बच्‍चों की पढ़ाई के लिए कुछ नहीं बचा है। दिव्‍यांगों के लिए रोजगार के मौके कितने कम हैं यह हम सबको पता है।’

राजा बाबू ने कहा, ‘1997 में स्‍कूल से घर लौटते वक्‍त एक ट्रेन हादसे में मैंने बायां पैर खो दिया। हादसे के बाद मेरी पढ़ाई रुक गई थी क्‍योंकि परिवार स्‍कूल की फीस नहीं चुका सकता था। हादसे ने मेरी जिंदगी बदली मगर मैंने सपने देखना नहीं छोड़ा।’

20 गेंदों में 67 रन बना दिलाई थी यूपी को जीत

आपको बता दें, राजा बाबू साल 2017 में क्रिकेट जगत मे चर्चा मे आए थे. उस वक़्त उन्होंने दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बीच एक दिव्यांग क्रिकेट मैच में 20 गेंदों में 67 रन बनाए थे. राष्ट्रीय स्तर पर खेले गए इस मैच का नाम ‘हौसलों की उड़ान’ था, जिसमें राजा बाबू ने दिल्ली के खिलाफ उत्तर प्रदेश को जीत दिलाई थी. 2017 में ही उन्हें IPL की तर्ज़ पर एक T20 टूर्नामेंट में मुंबई की टीम का कप्‍तान चुन लिया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top