अंतिम ओवर में 4 छक्के लगाने के बाद विराट ने सूर्य से पूछा, क्या आप युवराज बनना चाहते हैं, यादव ने दिया हैरान कर देने वाला जवाब

SURYA VIRAT

एशिया कप 2022 में टीम इंडिया सुपर-4 में अपनी जगह पक्की कर ली है। टीम इंडिया का दूसरा मुकाबला हांगकांग के विरुद्ध था। इस मुकाबले में टीम इंडिया पहले बल्लेबाजी करते हुए 192 रनों का लक्ष्य विरोधी टीम के सामने रखते हैं। इस मैच का मैन ऑफ द मैच सीरीज सूर्यकुमार यादव को सौंपा गया।

सूर्यकुमार यादव ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उनका यह छठवां शतक रहा। इस बार सूर्य कुमार का बल्ला चला तो किंग कोहली भी पीछे नहीं रहे। उन्होंने 44 गेंदों में एक चौके, तीन छक्के की मदद से 59 रनों की धमाकेदार पारी खेलते हैं। विराट कोहली का यह अंतरराष्ट्रीय करियर का 31वां अर्धशतक रहा। विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव तीसरे विकेट के लिए 42 गेंदों में 98 रनों की शानदार नाबाद पारी खेलते हैं। रोहित शर्मा 13 गेंदों में 21 रनों की पारी खेलते हैं।

विराट ने कहा, यादव के छक्कों के हम फैन हो गया

हांगकांग के खिलाफ टीम इंडिया के बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव और विराट कोहली 98 रनों की कमाल की साझेदारी करते हैं। आखरी ओवर में सुर्यकुमार यादव ने 4 छक्के लगा दी। इस पारी के बाद सूर्यकुमार यादव को सब 360 डिग्री कहने लगे। इनके बल्लेबाजी काफी लाजवाब साबित हो रही थी।

मैच खत्म होने के बाद विराट कोहली यादव के बारे में कहते हैं कि,“मैंने उनकी बल्लेबाजी को खूब एंज्वॉय किया”। जिसपर सूर्यकुमार यादव ने कहा  “उनकी बल्लेबाजी पहले भी कई बार देखी थी, लेकिन इतने नजदीक से पहली बार देखने को मिला। मैं पूरी तरह से स्तब्ध था”। इसके बाद सूर्यकुमार यादव कहते हैं कि, “विराट के साथ बल्लेबाजी करने में मजा आया”।

जिसके बाद विराट कोहली ने कहा

“मेरी कोशिश यही थी कि जिस तरह से मैं खेलता हूं, मैंने वही किया”। सूर्याकुमार यादव ने कहा कि उन्हें दूसरे एंड पर खड़े विराट से उन्हे काफी मदद मिली। विराट कोहली कहते हैं कि छह छक्के लगाकर युवराज सिंह बनने की कोशिश कर रहे थे यादव

सूर्यकुमार यादव हांगकांग के खिलाफ 68 रनों की धुआंधार पारी खेलते हैं। इस पारी में उन्होंने 6 छक्के और छह चौके लगाए थे। वहीं विराट ने कहा कि वो मानसिक रूप से फ्रेश महसूस कर रहे हैं और साथ ही अपनी बल्लेबाजी को एंज्वॉय भी कर रहे हैं।

बता दें विराट कोहली ने पवेलियन लौटते वक्त सूर्यकुमार यादव को झूककर अभिवादन किया था। इसपर सूर्यकुमार यादव ने कहा

“यह एक बहुत ही दिल को छू लेने वाला भाव था। मैंने कभी ऐसा कुछ नहीं देखा। मैं उन्हें देख रहा था कि वह आगे क्यों नहीं जा रहे हैं। बाद में मैंने उनसे साथ चलने का आग्रह किया। वह काफी अनुभवी हैं”।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top