भारतीय प्लेयर्स स्वार्थी थे, जिन्होंने चिप्स के लिए सीरीज को खतरे में डाल दिया था

team pain

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने 2020-21 में हुई ऑस्ट्रेलिया-भारत टेस्ट सीरीज को लेकर एक किस्सा सुनाया। उन्होंने कहा ‘इंडिया के कुछ प्लेयर्स काफी स्वार्थी थे, जिन्होंने पूरी सीरीज को खतरे में डाल दिया था। 4-5 लोग पूरी टेस्ट सीरीज को रिस्क में डाल रहे थे। किस लिए? सिर्फ कुछ चिप्स और मस्ती-मजाक के लिए। मुझे लगा कि वो लोग काफी स्वार्थी थे।’ टीम इंडिया के कुछ प्लेयर्स बायो बबल तोड़कर रेस्टोरेंट गए थे।

भारत के विरुद्द हुई सीरीज के बारे में कप्तान पेन ने कहा ,‘‘भारतीय टीम को आपका ध्यान हटाने में महारत है. हम सब उसी में फंस गए. जिस प्रकार उन्होंने कहा कि वे गाबा खेलने नहीं जायेंगे तो हमें पता ही नहीं होता था कि हमे कहां खेलेंगे. तब हमारा फोकस हट सा गया.’’ ऐसी संभावना भी थी कि भारतीय टीम उस टूर पर ब्रिसबेन में भी नहीं खेलना चाहती थी लेकिन भारत ने फिर भी खेला औरमैच के लास्ट डे मैच जीतकर इतिहास बना दिया. पेन ने बताया , “भारत के विरुद्ध खेलने की चुनौती का एक पार्ट यह है कि वे आपको परेशान करने में भी बहुत माहिर हैं. साथ ही आपको ऐसी चीजों मे फँसाने की कोशिश करते हैं जो वास्तव में कहीं से भी मायने नहीं रखती हैं. सीरीज में कुछ ऐसे अवसरभी आए जब हम इसमें उलझ गए.”

आपको बता दें कि यह लगातार दूसरा अवसर था, जब भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को उसकी ही जमीन पर टेस्ट सीरीज में हराया था । सन 2018-19 बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी भी इंडिया ने 2-1 से अपने नाम की थी। उस समय मे यह भारत की ऑस्ट्रेलिया में पहली टेस्ट सीरीज जीत थी। उस सीरिज मे भी ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान टिम पेन ही थे। सन 2020-21 में विराट कोहली पहले टेस्ट मैच के खत्म होने के बाद पैटरनिटी लीव पर भारत लौट गए थे। विराट की अनुपस्थिति में उप कप्तान अजिंक्य रहाणे ने सीरीज के बाकी तीन टेस्ट मैचों में कप्तानी किया था । उस टीम के तमाम दिग्गज खिलाड़ी चोटिल थे भारतीय टीम ने युवा क्रिकेटरों के दम पर यह सीरीज अपने नाम की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top