गेंदबाजी करते समय तोड़ देता है स्टम्प, यार्कर से कांपते है बड़े बड़े बल्लेबाज, अब बन गए डीएसपी, और करना होगा….

डीएसपी

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज शाहीन शाह अफरीदी को खैबर पख्तूनख्वा पुलिस का ऑनरेरी और बिना तनख्वाह वाला डीएसपी बना दिया है। पाकिस्तान समेत पूरे भारतीय उपमहाद्वीप में क्रिकेट और क्रिकेटरों की लोकप्रियता सब जानते हैं। अब पाकिस्तान पुलिस ने इसी स्टारडम का इस्तेमाल किया है।

शाहीन शाह अफरीदी को खैबर पख्तूनख्वा पुलिस का गुडविल एम्बेसडर भी चुना गया

गुडविल एम्बेसडर के रोल में शाहीन लोगों से अच्छे सम्बंध बनाने के साथ-साथ, पुलिस में विश्वास कायम कराने का काम भी करेंगे। शाहीन के परिवार का इनसे पहले भी पुलिस की ड्यूटि से रिस्ता है शाहीन के पिता जी भी खैबर पख्तूनख्वा के पुलिस अधिकारी के तौर पर रिटायर हुए और शाहीन के भाई तो भी इसी पुलिस विभाग से जुड़े हुए हैं।

पाकिस्तान के पहले तेज गेंदबाज सुपरस्टार फजल महमूद ने भी पुलिस विभाग में नौकरी किया था और अपनी पुलिस की ड्यूटी को बड़ी गंभीरता से निभाया। यह अपना क्रिकेट खेलते हुए पाकिस्तान पुलिस में डीएसपी थे। जब क्रिकेट से रिटायर हुए तो डीआईजी के पद तक पहुंचे। पूर्व तेज गेंदबाज फजल महमूद का 78 साल की उम्र में निधन हुआ।

विस्फोटक बल्लेबाज शानदार फॉर्म के बाद भी टीम से हुई छुट्टी, खिलाड़ी की नहीं हो रही कदर

फजल महमूद ने 1952-53 और 1962 के बीच 34 टेस्ट में 139 विकेट लिए। अक्टूबर 1952 में दिल्ली में भारत के विरुद्ध पाकिस्तान के सबसे पहले टेस्ट में खेले और लखनऊ में दूसरे मैच में पाकिस्तान की पहली टेस्ट जीत पक्की की थी। दो साल बाद, पाकिस्तान के पहले टेस्ट इंग्लैंड टूर में उनके प्रदर्शन को हमेशा याद किया जाएगा- ओवल में जीत में 12 विकेट लिए थे। दूसरी पारी में 46 रन देकर 6 विकेट लिए जिसमें पीटर मे और डेनिस कॉम्पटन के बड़े विकेट भी थे और इंग्लैंड 109-2 के स्कोर से 143 रन पर ऑल आउट हो गया था। उस प्रदर्शन ने उन्हें विजडन के साल के पांच क्रिकेटरों में से एक का सम्मान दिलाया

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top