कभी खेत में कर रहे थे प्रेक्टिस, और आज बने टीम इंडिया के बेहतरीन क्रिकेटर ऐसे रही रवि विश्नोई की सफलता का सफर

ravi vishnoi

आईपीएल प्रीमियर लीग में अपनी गेंदबाजी से विपक्षी के नाकों चने चबाने वाले लेग स्पिनर रवि बिश्नोई ने टीम इंडिया में डेब्यू कर लिया है।

रवि विश्नोई को वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 के मुकाबले में अंतिम 11 खिलाड़ियों में शामिल किया गया है, इसी के संग कोलकाता के ईडन गार्डन में भारत के दिग्गज लेग स्पिनर यजुवेंद्र चहल को भी चयन किया गया है। इस तरह से रवि बिश्नोई भारत के लिए T20 क्रिकेट खेलने वाले 75 वे क्रिकेटर बन गए हैं।
भारतीय टीम में चयन होने से पहले रवि विश्नोई को काफी सारा संघर्ष करना पड़ा। 21 साल के रवि बिश्नोई अपने कैरियर की शुरुआत करने से पहले गांव की खेतों में प्रैक्टिस करते थे।

5 सितंबर 2000 मे जन्म लिए रवि बिश्नोई का परिवार जब गांव से जोधपुर आकर रहने लगा था , तब उनकी माताजी ने बताया गांव में भी रवि बिश्नोई खेतों की उबड़ खाबड़ जमीन में प्रैक्टिस किया करते थे, जोधपुर आने के बाद उनकी उम्मीदों ने उड़ान ली, तथा क्रिकेट एकेडमी ट्रेनिंग स्कूल में दाखिला लिया।

आज वह काफी प्रसिद्ध है परंतु एक समय ऐसा था,जबकि उनका अंडर 16 में नहीं हुआ तो उनके पिता जी नाराज हो गए और उन्होंने कहा अब क्रिकेट नहीं खेलना है परंतु रवि विश्नोई जी ने उनकी ना बात मानते हुए अपनी क्रिकेट के सफर को चालू रखा ।

जोधपुर में उनके कोच प्रज्योत सिंह ने उन्हें क्रिकेट खेलना सिखाया, तब इन्होंने अंडर-19 वर्ल्ड कप में अपनी प्रतिभा को दिखाएं और तभी लोगों ने कहना शुरू कर दिया यह खिलाड़ी काफ़ी नाम करेगा।

साल 2020 के आईपीएल के लिए किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें अपनी टीम में शामिल किया, इसी के संग आईपीएल 2022 में यह लखनऊ सुपरजाइंट्स के लिए केएल राहुल की कप्तानी में खेल खेलते नजर आएंगे। इन्होंने अभी तक आईपीएल में 23 मैच खेलकर 6.96 इकोनामी रेट के संग 24 विकेट लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top