श्रीलंका से हार के बाद शर्मिंदा हुए अफगानी कप्तान मोहम्मद नबी, कहा “अगर वो ऐसा नहीं करता तो जीत पक्की थी”

Asia Cup 2022: श्रीलंका से हार के बाद शर्मिंदा हुए अफगानी कप्तान मोहम्मद नबी, कहा “अगर वो ऐसा नहीं करता तो जीत पक्की थी”

एशिया कप 2022 मे श्रीलंका ने अफगानिस्तान को सुपर 4 के पहले मैच में 4 विकेट से हरा दिया है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए अफगानिस्तान ने श्रीलंका के लिए 175 रन का टारगेट दिया । इसके उत्तर में श्रीलंका की 6 विकेट पर 179 रन बनाकर अपनी जीत पक्की कर लिया । श्रीलंका टीम की शुरुआत कुछ खास नहीं रही। निसांका और मेंडिस ने पहले विकेट के लिए 62 रन की साझेदारी की। निसांका 35 और मेंडिस 36 रन बनाकर आउट हुए। श्रीलंकाई टीम ने कुसाल मेंडिस के 36 रन (19 गेंद, दो चौके, तीन छक्के), पाथुम निसांका के 35 रन (28 गेंद, तीन चौके, एक छक्का), धनुष्का गुणतिलक के 33 रन (20 गेंद, दो चौके, दो छक्के) से 19.1 ओवर में छह विकेट पर 179 रन बनाकर जीत दर्ज की.इस जीत के साथ श्रीलंका ने एशिया कप 2022 के पहले मैच में अफगानिस्तान से मिली हार का बदला भी ले लिया है।

इससे पहले अफगानिस्तान को सलामी बल्लेबाजों ने अपनी टीम के लिए एक अच्छी शुरुआत दी। अफगानिस्तान के लिए जजई और गुरबाज के बीच पहले विकेट के लिए 46 रन की साझेादारी हुई। गुरबाज ने 84 रन की अपनी पारी में 45 गेंदें खेलकर चार चौके और छक्के लगाए। इसके अलावा इब्राहिम जादरान ने 40(38) रन की पारी खेली। 16वें ओवर में गुरबाज और 18वें ओवर में इब्राहीम का विकेट गिरने के बाद अफगानिस्तान के रनों की रफ्तार रुक गई। राशिद खान ने आखिरी ओवर में नौ रन बनाते हुए अपनी टीम को 20 ओवर में 176 रन तक पहुंचाया।

मैच ख़त्म होने के बाद प्रेसवार्ता मे मोहम्‍मद नबी ने कहा कि ” अफगानिस्‍तान के कप्‍तान अंत में हम कुछ रनों से कम रह गए, हमनें सही जगह पर गेंदबाजी नहीं कर सके। बांग्‍लादेश के मैच के बाद यह अच्‍छी पिच थी। जजई और गुरबाज की साझेदारी ने हमारे लिए अच्‍छा किया लेकिन अंत में हम अच्‍छा नहीं कर सके। अगर हम कुछ कैच लेते तो नतीजा कुछ और होता।अंत में 20-25 रन कम। साथ ही अच्छी फील्डिंग भी नहीं की। साथ ही सही क्षेत्रों में गेंदबाजी नहीं की। जब हमने बांग्लादेश के खिलाफ आखिरी मैच खेला था, तो आज पिच बेहतर थी (उसकी तुलना में)। हमने शानदार गेंदबाजी नहीं की, कुछ कैच छोड़े। स्थिति अलग हो सकती थी।”

विजयी टीम के कप्तान दसुन शनका, ने कहा कि “हम एक टीम की तरह से इसी तरह से जीत चाहते थे, हमें पता था कि हम इस लक्ष्‍य को पा सकते हैं। हम लक्ष्‍य का पीछा करने की देख रहे थे, हमें पता था कि पिच किस तरह की है। उनके पास अनुभव था, उनके बल्‍लेबाज अच्‍छे थे लेकिन हमारे गेंदबाजों ने अंतिम समय पर आकर अच्‍छी गेंदबाजी की। मैच को जीतने में साझेदारी अहम होती है, हमारी ओपनिंग साझेदारी के बारे में ज्‍यादा बात नहीं हो रही है, लेकिन अंत में हमारे बल्‍लेबाजों खासकर भानुका राजापक्षा ने दिखाया कि वह क्‍या कर सकते हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top