भारत की हुयी शर्मनाक हार 11 में से तीन ही पहुंच पाए 10 के पार

cricket

गुरुवार को इंग्लैंड की महिला टीम ने ब्रिस्टल के काउंटी ग्राउंड में तीसरे टी20 मुकाबले में भारत को 7 विकेट से हराकर तीन मैच की सीरीज को 2-1 से जीत लिया। इस मैच में टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट खोकर 122 रन बनाए। भारत के लिए ऋचा घोष ने 33 और दीप्ति शर्मा ने 24 रनों का योगदान दिया। भारत की ओर से सिर्फ तीन बैटर दीप्ति शर्मा (25 गेंद, 24 रन), ऋचा घोष और पूजा वस्त्राकर (11 गेंद, 19 रन, 2 चौके) ही दहाई का आंकड़ा छू पाईं। स्मृति मंधाना 9, शैफाली वर्मा 5, एस मेघना शून्य, कप्तान हरमनप्रीत कौर 5, हेमलता शून्य, स्नेह राणा 8 और राधा यादव 5 रन पर आउट हुईं इंग्लैंड के लिए सोफी एक्लेस्टोन ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए।

इंग्लैंड के लिए सोफिया डंकले ने 49 रनों की पारी खेली। इनके अलावा ऐलिस कैप्सी ने नाबाद 38 रन बनाए। भारत के लिए स्नेह राणा, पूजा वस्त्राकर और राधा यादव ने एक-एक विकेट लिए।जवाब में इंग्लैंड ने लक्ष्य को 10 गेंदें शेष रहते हासिल कर लिया।

मैच के बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर ने फिर उसी बात को दोहराया जो अक्सर सुनने को मिलती है। उन्होंने कहा कि, ‘मुझे लगता है हमने 20 रन कम बनाए। लेकिन हमारी गेंदबाजों ने हमें मैच में बनाए रखा। राधा (Radha Yadav) हमेशा  से ऐसी खिलाड़ी रही हैं जो खेल में अपना 200 प्रतिशत देती हैं। ऋचा (Richa Ghosh) ने हमें एक लड़ने वाले टार्गेट तक पहुंचाया। हमें बस अपने मजबूतियों के साथ डटे रहना होगा। खेल के किसी भी फॉर्मेट में एक अच्छे टोटल की जरूरत रहती है। बल्लेबाजी में हमें पार्टनरशिप करनी होंगी।’ देखना होगा कि 18, 21 और 24 सितंबर को होने वाले वनडे मैचों में टीम के इस प्रदर्शन में कुछ सुधार देखने को मिलता है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top