अर्शदीप का छलका दर्द, माना मुझसे गलती हुयी, मगर हम देशद्रोही

arshdeep

एशिया कप मुकाबले में टीम इंडिया को पाकिस्तान के विरुद्ध 5 विकेट से हार मिली। इस मैच के 18वें ओवर में अर्शदीप सिंह ने बल्लेबाज आसिफ अली का आसान कैच गिराया और पाकिस्तान टीम के यहीं टर्निंग पॉइंट साबित हो गया । आसान सा कैच गिराने के बाद से युवा 23 वर्षीय तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह सोशल मीडिया के निशाने पर आ गए हैं। इस कैच ड्रॉप के बाद अर्शदीप सिंह सोशल मीडिया के निशाने पर आ गए हैं। अर्शदीप सिंह को कई सोशल मीडिया पोस्ट में क्रिकेट फैंस खालिस्तानी भी बताया जा रहा है।सबसे आश्चर्य वाली बात ये हुई कि विकिपीडिया के द्वारा अब अर्शदीप सिंह के पेज पर कुछ बदलाव किया गया और इस खिलाड़ी का ‘खालिस्तानी’ संगठन से संबंध की बात को जोड़ दिया गया है भारत सरकार इस मामले में अब एक्टिव हुई है और तुरंत ही आईटी मंत्रालय द्वारा विकिपीडिया को नोटिस भेजा गया है.

जीवनदान का फायदा उठा के आसिफ अली ने 8 गेंदों पर 16 रन जड़ दिए

आपको बता दें भारतीय टीम के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह ने 18वें ओवर में रवि बिश्नोई की गेंद पर आसिफ अली का कैच गिराया। इस रोमांचक मैच मे पाकिस्तान टीम में फिनिशर की भूमिका में खेलने वाले आसिफ उस समय केवल शून्य के स्कोर पर ही थे । अर्शदीप के द्वारा जीवनदान का फायदा उठाते हुए आसिफ अली ने 8 गेंदों पर 16 रन जड़ दिए और पाकिस्तान टीम के लिए जीत लगभग तय कर दी। मैच मे प्रेशर के कारण युवा तेज गेंदबाज गलती के बारे में बात करते हुए कोहली ने बचाव मे कहा कि प्रेशर में ऐसी गलती हो जाती है।

twiter

मैच मे दबाव के कारण किसी से भी हो ऐसा सकता है

मैच के बाद विराट कोहली ने कहा कि, ‘दबाव में ऐसा किसी से भी हो सकता है। बड़ा मैच था, सिचुएशन भी टाइट थी। मुझे याद है कि जब मैंने चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला मैच खेला था, तब भी मैंने खराब शॉट खेला और आउट हो गया। दबाव में कोई भी गलती कर सकता है। इसके बाद भी 23 साल के युवा भारतीय तेज गेंदबाज को सोशल मीडिया पर कैच छोड़ने पर ट्रोल किया जाना बिलकुल गलत है कोहली के अलावा अर्शदीप के बचाव मे पूर्व भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा “कोई भी खिलाड़ी जानबूझ कर कैच नहीं छोड़ता. हमें अपने लड़कों पर गर्व है.. पाकिस्तान ने बेहतर खेला.. ऐसे लोगों पर शर्म आती है जो इस प्लेटफार्म पर इस तरह की बात कहकर हमारे ही लोगों को नीचा दिखा रहे हैं…अर्श गोल्ड हैं और इस युवा सीमर की आलोचना नहीं की जानी चाहिए”.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top