रोबिन उथप्पा ने छिड़का जले पर नमक, बोले भारतीय क्रिकेट में ऐसा कभी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता

रोबिन उथप्पा

भारत की श्रीलंका से मिली हार पर टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज रोबिन उथप्पा के अनुसार दिनेश कार्तिक को श्रीलंका के खिलाफ मैच मे खैलाना चाहिए था। वहीं दूसरी ओर भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को बल्लेबाजी क्रम में नीचे भेजने पर भी उनका विरोध किया है । रॉबिन उथप्पा ने टीम इंडिया को नसीहत देते हुए कहा कि भारतीय विकेट कीपर ऋषभ पंत को बल्लेबाजी क्रम टॉप 4 मे बल्लेबाजी करने के लिए भेजना चाहिए

टीम इंडिया के फाइनल खेलने की उम्मीद हुई कम

एशिया कप 2022 के टॉप फोर स्टेज में श्री लंका और पाकिस्तान से हार के बाद भारतीय टीम लगभग फाइनल के रेस बाहर हो चुकी है। खास तौर से श्रीलंका से मिली हार के बाद टीम इंडिया के क्रिकेट फैंस और कई दिग्गज खिलाड़ी नाखुश दिखाई दे रहे है। टीम इंडिया के दिग्गज खिलाड़ियों में प्रमुख रूप से पुजारा और रॉबिन उथप्पा ने टीम इंडिया को इस हार कड़ी नसीहत भी दी है। चेतेश्वर पुजारा के अनुसार टीम इंडिया ने श्रीलंका के खिलाफ बहुत अच्छी बैटिंग नहीं की थी। इसी के फलस्वरूप मैच मे हार का सामना करना पड़ गया। वही रहे रोबिन उत्थपा के अनुसार विकेटकीपर ऋषभ पंत की जगह अभी टीम में कहीं से नही बनती है और अगर फिर भी उन्हें खेलाना ही है तो नंबर चार तक उनको बैटिंग के लिए भेजना चाहिए ।टीम में कहीं भी उनकी जगह नंबर 5 के लिए नहीं बनती है ,साथ ही रवींद्र जडेजा की जगह जा रहे दीपक हुड्डा को एक भी ओवर बॉलिंग के लिए नहीं देना सबसे आश्चर्यजनक पहलू रहा है

“दिनेश कार्तिक को बतौर फिनिशर टीम में होना चाहिए “-रोबिन उथप्पा

उथप्पा ने आगे कहा कि, ‘ टीम इंडिया में वही सब समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं जैसे कि बीच के ओवर में रनरेट ऊपर नहीं जा रहा है। इस कारण भारतीय टीम 15-20 रन कम रह गए या कहें कि हमारे गेंदबाजों को लक्ष्य का बचाव करने के लिए नहीं मिले।’ मैच के पूर्व उथप्पा ने श्रीलंका के खिलाफ कहा था कि दिनेश कार्तिक को बतौर फिनिशर टीम में होना चाहिए था।पहली पारी में विकेट इतना आसान नहीं था। दूसरी पारी के मुकाबले विकेट हल्का सा तेज था। लेकिन , ऐसा कहकर बचा भी नहीं जा सकता। लेकिन अगर हमको पहले से ही पता था कि विकेट ऐसा होने वाला है तो उसी हिसाब से प्लान करना चाहिए। यदि ऐसा नहीं करेंगे तो स्कोर को 190 तक कैसे लेकर जाएंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top