इस खिलाड़ी के सन्यास से अचानक क्रिकेट जगत में मची सनसनी, वर्ल्ड कप में सबसे तेज शतक का है रिकॉर्ड

GLEN MAXWELL

मंगलवार 16 अगस्त दोपहर को आयरलैंड के दिग्गज खिलाड़ी और ऑलराउंडर केविन ओ’ब्रायन ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। अपने संन्यास की जानकारी आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिये ओ ब्रायन ने सभी क्रिकेट फैंस को दी। ट्विटर मे किए पोस्ट में उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में अविश्वसनीय समर्थन के लिए अपने कोच, परिवार, पत्नी और प्रशंसकों को धन्यवाद दिया।

ऑलराउंडर केविन ओ’ब्रायन सबसे लंबे समय तक सेवा खेलने वाले आयरिश खिलाड़ी में से एक रहे हैं। उन्होंने अपने 16 साल के कार्यकाल के दौरान सभी प्रारूपों 3 टेस्ट, 153 एकदिवसीय और 110 टी20 आई मुकाबलों में आयरिश टीम का प्रतिनिधित्व किया. केविन ने इंटरनेशनल क्रिकेट में 5850 रन बनाए और 172 विकेट हासिल किए.

ओ’ब्रायन ने ट्विटर पर पोस्ट के साथ लिखा कि, “आज मैं अपने देश के लिए 16 साल के बाद क्रिकेट से संन्यास का ऐलान करता हूं. पिछले वर्ष के विश्व कप के बाद से ही आयरलेंड टीम के लिए नहीं चुना गया. मुझे लगता है कि चयनकर्ता और प्रबंधन भविष्य की ओर देख रहे हैं.” मुझे अगले महीने ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप में अपना करियर खत्म करने की उम्मीद थी।

ओ’ब्रायन ने आगे लिखा है कि, “मैंने क्रिकेट जगत मे आयरलैंड के लिए खेलने के हर पल का आनंद लिया है, क्रिकेट के मैदान पर मेरे कई दोस्त बने हैं और मेरे पास राष्ट्रीय टीम के लिए खेलने के समय की बहुत सारी सुखद यादें हैं. मैं विदेशों में भी कोचिंग का अनुभव हासिल करना जारी रखना चाहता हूं.

साल 2006 मेंकेविन ओब्रायन ने अपना वनडे डेब्यू इंग्लैंड के खिलाफ किया था। वनडे के पहले ही मैच में उन्होंने अपनी योग्यता से सभी को हैरान कर दिया था । पहली ही मैच मे उन्होने 8 नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 48 गेंदों पर 35 रन बनाए थे।

ओ’ब्रायन के नाम वन डे करियर में दो सेंचुरी भी दर्ज हैं, जिनमें से एक उन्होंने 2011 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ एक शतक लगाया था और उस मैच में इंग्लैंड को हार का सामना करना पड़ा था। उस मैच में केविन ने 63 गेंदों में 113 रन बनाए थे और आयरलैंड ने 3 विकेट से वो मुकाबला जीत लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top