6,6,6,6,6,4 रनों की मदद से 34 रन बनाये बेन स्टोक्स , जब….

ben stokes

एक वर्ष पूर्व तक बेन स्टोक्स निराशा मे डूबे हुए थे। आज वह इंग्लैंड टीम के स्टार कैप्टन हैं। कुछ वक़्त पहले तक जिंदगी और क्रिकेट करियर दोनों ही दांव पर लग गया था। लेकिन टेस्ट कप्तान बनते ही उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ 3-0 की विजय प्राप्त की। जबकि बेन स्टोक्स 2021 में भारत के विरुद्ध होने वाली सीरीज के ठीक पहले क्रिकेट के सभी फॉरमेट से खुद को अलग कर लिया था।

अपने खेल में वह अब पहले से भी अधिक परीपक्व्व है। इस साल जब वे इंग्लैंड के कप्तान बने तो उनको काउंटी चैम्पियनशिप में डरवोरस्टरशायर के खिलाफ मैच खेलना था। टेस्ट कप्तान बनने की खुशी ने उनके इरादों को कितना मजबूत बना दिया था, वह उनकी इस पारी को देख कर समझा जा सकता है। जबकि इसके पूर्व वे मानसिक रूप से असहज महसूस कर रहे थे।

मानसिक तनाव से लौटने के बाद इस पारी ने ही स्टोक्स को सुपरमैन बनाया था। उन्होंने अपने केरियर मे ब्रेक लिया। अपने विपरीत हालात से लड़े और खुद को संभाला। अपने आप को मानसिक रूप से भी तैयार किया । इस समय बस अब हर तरफ उनकी कप्तानी के चर्चे ही हो रहे है। अपने नये इरादों के साथ मंजिल की तरफ कदम बढ़ाये।

देखें वीडियो 

आपको बता दें कि 6 मई 2022 को डरहम का वोरस्टरशायर के विरुद्ध दूसरे दिन का मैच हो रहा था। उस समय क्रीज पर डरहम के बल्लेबाज बेन स्टोक्स थे। वोरस्टरशायर की तरफ से स्पिन गेंदबाज जोश बेकर बॉलिंग कर रहे थे। स्टोक्स क्रीज़ पर 59 गेदों पर 70 रनों पर खेल रहे थे। इसके बाद अचानक से स्टोक्स ने अपना बेटिंग का गियर ऐसा बदला कि सभी देखने वाले भी चौंक गये।

स्टोक्स ने स्ट्रेट लॉफ्टेड शॉट खेल कर लंबा छक्का मार दिया। इसके बाद तो उन्होंने सिक्स पर सिक्स की झड़ी लगा दी और इस ओवर में 34 रन फोड़ दिये । एक ही ओवर मे 6,6,6,6,6,4 रनों की मदद से 34 रन बनाये और 70 से 104 पर पहुंच गये। इस पारी में स्टोक्स ने केवल 64 गेंदों में शतक पूरा किया। इसके बाद भी अगली 12 गेंदों पर फिर 5 जोरदार छक्के लगाये। उन्होंने 88 गेंदों पर 161 रन बनाये जिसमें 17 छक्के और 8 चौके शामिल थे। अब तक के इंग्लिश काउंटी क्रिकेट की एक पारी में सर्वाधिक छक्कों का यह एक नया रिकॉर्ड था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top