बाप को क्रिकेट से नफरत माँ का मिला सपोर्ट मगर डेब्यू से पहले हुआ निधन, सबसे कम उम्र में लिया हैट्रिक, अजीब है इस खिलाडी की कहानी

NASIM SHAH

28 अगस्त रविवार के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला खेला गया, मुकाबला काफी रोमांच से भरा पड़ा था। इस मुकाबले में फैंस की सांसे शुरू से अंत तक अटकी हुई थी। भारत के लिए हार्दिक पांड्या अपने प्रदर्शन से काफी लोगों को प्रभावित करते हैं। इस मैच के असली नायक रविंद्र जडेजा और हार्दिक पांड्या रहते हैं। हार्दिक पांड्या ने आखिरी ओवर की चौथी गेंद पर छक्का लगाकर मैच को जीत दिलाई। हार्दिक पांड्या को मैन ऑफ द मैच की सीरीज सौंपी गई।

टीम इंडिया के गेंदबाज हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार और रविंद्र जडेजा की चर्चा काफी लोगों द्वारा की जा रही थी, और इनकी तारीफ भी की जा रही थी। पाकिस्तान टीम के तरफ से 19 साल के डेब्यू खिलाड़ी नसीम शाह सुर्खियों में बने हुए हैं। पाकिस्तान टीम के तेज गेंदबाज शाहिन अफरीदी के स्थान पर इन्होंने डेब्यू किया था। शाहिद अफरीदी वर्तमान समय में इंजरी के कारण टीम से बाहर हैं।

इस मुकाबले के द्वारा यह अपनी काबिलियत को लोगों तक फैला सकते हैं। लेकिन यह इतना अनुभवी खिलाड़ी नहीं है फिर भी इनको गेंदबाज़ी करने का तरीका पता है। नसीम शाह ने 4 ओवरों में 27 रन देकर 2 अहम विकेट चटकाए। इसी मैच के दौरान नसीम शाह हैमस्ट्रिंग से जूझ रहे थे। लेकिन इन्होंने हिम्मत नहीं हारी और पूरा ओवर करके दिखाया।

इन्होंने अपने जीवन में बहुत से मुश्किलों को झेली है। जब पाकिस्तान ए टीम में खेल रहे थे। तब इनकी मां का निधन हो गया था। नसीम शाह एक इंटरव्यू में कहते हैं कि, मेरी और मेरी अम्मी के बीच अच्छी अटैचमेंट थी. उन्होंने मुझे इस काबिल बनाया कि मैं क्रिकेट खेल सकूं. मेरे अब्बू सख्त इंसान थे, उन्हें खेलों में शौक नहीं था लेकिन मैं अम्मी के सपोर्ट से क्रिकेट खेल सका. मेरे अब्बू कहते थे क्रिकेट में टाइम बर्बाद करने के बजाय पढ़ाई करो।”

इनके नाम पर कई रिकॉर्ड भी दर्ज हुए हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम उम्र में हैट्रिक लेने का कारनामा किए है। जब इन्होंने हैट्रिक लिया था। तब इनकी उम्र 16 साल 359 दिन थी। अब ये पाकिस्तान के तीनों फॉर्मेट के गेंदबाज बन चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top